CUTE PANDA
CUTE PANDA

CUTE PANDA के बारे में जानकारी

CUTE PANDA
0 Shares
0
0
0

नमस्कार दोस्तों, हम II TECHNOLOGY आपके लिए एक नयी जानकारी लेकर आये हैं जो CUTE PANDA IMAGES के बारे में हैं।

जिसमे हम आपको PANDA के बारे में जानकारी भी देंगे और उसके IMAGES भी दिखाएंगे।

चीन का एक ऐसा जीव हैं जिसे चीन दुनिया को देना नहीं चाहता।

ये दिखने में ब्लैक एंड वाइट जरूर हैं लेकिन इनकी लाइफ चुलबुली रंगीन हरकतों से भरी हुई हैं।

ये कोई और नहीं THE GREAT PANDA हैं।

PANDA के लिए चीन का प्यार और डेडिकेशन इस बात से ज़लकता हैं की ये अपने डिप्लोमेसी के तौर पर फ्रेंडली नेशन को ये PANDA गिफ्ट करते हैं।

CUTE PANDA
CUTE PANDA

लेकिन सवाल हैं की अगर प्यार इतना ज्यादा हैं तो आज भी इसकी एक्सिस्टेंस को इतना बड़ा खतरा क्यों हैं।

क्यों आज भी इनकी संख्या चीन के कुछ चिड़ियाघर और जंगलो में सिमट कर रह गयी हैं।

सदियों से चीन और पांडा का रिश्ता बहोत गहरा रहा हैं।

इन चब्बी शरीर वाले जीवो ने केवल चीन के लोगो का ही ध्यान अपनी और नहीं खींचा हैं बल्कि दुनियाभर में इनके चाहने वालो की कमी नहीं हैं।

बस शर्त ये हैं की इनके दीदार का नसीब केवल चीन जाकर ही किया जा सकता हैं या फिर किसी स्पेसिफिक ज़ू में ही देखा जा सकता हैं।

PANDA एक तरफ तो पावरफुल सिमबोल के रूप में पेश किये जाते हैं लेकिन दूसरी तरफ इनकी एक्सिस्टेंस आज भी खतरे में हैं।

२४६० की पापुलेशन के साथ PANDA बम्बू फारेस्ट के मूल निवासी हैं।

जंगलो में इनकी संख्या केवल १८६० तक सिमित हैं।

बाकि ६०० पांडा पूरी तरह चिड़ियाघर में रहते हैं।

PANDA अकेले रहना पसंद होता हैं जिन्हे खाने में बहोत सारा बम्बू चाहिए होता हैं।

CUTE PANDA की साइज और कलर

CUTE PANDA
CUTE PANDA

एक क्यूट फेस और चुलबुली हरकतों के साथ PANDA के बारे में जो चीज़ सबसे खास हैं वो हैं इनका ब्लैक एंड वाइट शरीर।

बेशक लोगो को ब्लैक एंड वाइट टीवी देखना रास न आये लेकिन ब्लैक एंड वाइट पांडा देखना हर किसी को भाता हैं।

ये रंग केवल इन्हे अनोखा ही नहीं बनाता बल्कि जंगल में कमॉलार्ज रखने की भी ताकत देता हैं।

इनके अनोखे रंग और शारीरिक ढांचे की बदौलत ही लम्बे समय तक वैज्ञानिको में भी बहज रही की ये असल में कुन हैं या बेयर।

लेकिन जेनेटिक्स स्टडीज से ये पता चला है की PANDA भालू के परिवार से ही हैं।

आम तौर पर इनके शरीर का आकर एक अमेरिकन ब्लैक बेयर जितना होता हैं लेकिन इनका व्यव्हार और रहने का ढंग उनसे काफी अलग होता हैं।

PANDA ३ से ६ फ़ीट लम्बे और ११३ किलो वजनी हो सकते हैं।

फीमेल आकार में भले ही छोटी होती हैं लेकिन मेल की तरह ही स्वाभाव रखती हैं।

ये पांडा कपल सिर्फ मेटिंग सीजन में ही साथ आते हैं। इनके अलावा कभी कपल को साथ में नहीं देखा जाता।

PANDA का शरीर असल में पहाड़ी इलाके में सर्वाइव करने के लिए विकसित होता हैं।

इनके मजबूत पंजो में उंगलियों के साथ हड्डी भी होती हैं जिसकी मदद से ये पहाड़ भी चढ़ पाते हैं।

ये किसी भी चीज़ को मजबूती से पकड़ पाते हैं।

एक फ्लेक्सिबल शरीर के चलते हैं ये पेड़ो से गिरने पर भी आसानी से घायल नहीं होते।

PANDA मुश्किल से मुश्किल रस्ते पर भी चल सकते हैं।

CUTE PANDA की HABIT और खाना

CUTE PANDA
CUTE PANDA

चीन में PANDA का एक्सिस्टेंस ३ हेक्टर के जंगलो तक सिमित हैं।

ये पास के जंगलो से लेकर कुछ मिक्स फारेस्ट में भी देखने को मिलते हैं।

अपने साथियो को बुलाने के लिए अक्सर ये गंध का इस्तेमाल करते हैं।

इसी गंध से अपनी टेर्रोरिटी मार्क करते हैं।

बांस के जंगलो में ये बाम्बू कहते और पेड़ो पर आराम करते हुए इनको देखा जा सकता हैं।

आज भले ही इनकी संख्या कम हैं लेकिन एक समय था जब ये दक्षिण चीन से लेकर म्यांमार तक फैले हुए थे।

जंगल में इनका अच्छा खासा दबदबा बरक़रार था लेकिन वक़्त के साथ इनकी प्रजाति पर एक्सिस्टेंस का खतरा मंडराने लगा।

भारी मात्रा में इनके शिकारी और बम्बू कम होने से भी इनको बेचिदा बना दिया।

बात करे इनकी डाइट की तो बाम्बू से इन्हे बड़ा प्यार हैं।

CUTE PANDA
CUTE PANDA

जब देखो और जहा भी देखो इन्हे केवल बाम्बू का लुफ्त उठाते देखा जाता हैं।

आज भले ही PANDA चाव से बाम्बू कहते हैं लेकि शुरुआत से ये वेजेटेरियन नहीं थे।

लगभग  मिलियन साल पहले एवोलुशन के फेज में इनके पूर्वजो ने वेजेटेरियन डाइट को अपनाया था।

इससे पहले ये मछली, खरगोश, चूहे जैसे जीवो को खा कर अपना पेट भरते थे।

NON VENOMOUS SNAKE के बारे में जानकारी

ये वो दौर था जब ये आम जंगलो में रहते थे लेकिन जब इन्होने बाम्बू फारेस्ट में रहना सुरु किया तो भोजन के तौर पर उन्होंने बाम्बू स्टिक्स को डाइट में अपनाया।

डाइट बदलने की वजह से उनके शरीर में तो बदलाव आया पर DIGESTIVE SYSTEM में कोई बदलाव नहीं आया।

यही वजह हैं की आज भी इनका पेट बिलकुल कर्नीवोरस भालू की तरह ही काम करता हैं।

यानि की ये चाहे तो आज भी नॉन वेजेटेरियन डाइट को अपना सकते हैं लेकिन बाम्बू को ही ये अपने भोजन के रूप में कहते हैं।

बाम्बू स्टिक्स में प्रोटीन की मात्रा काफी कम होती हैं और फाइबर बहोत ज्यादा होता हैं इसी वजह से ये डाइट पचने में इनको दिक्कत नहीं होती।

वह जितना कहते हैं उतना ही पीछे के रस्ते से बहार भी निकल देते हैं।

जंगल में इनके तीन ही काम होते है वो हैं खाना, सोना और खाया हुआ बहार निकलना।

खुद को स्वस्थ रखने के लिए और परफेक्ट न्यूट्रिशन के लिए PANDA को एक दिन में ९ से १८ किलो बाम्बू स्टिक्स खाने की जरुरत पड़ती हैं।

इतने सारे बाम्बू स्टिक्स को चबाने के लिए इन्हे १० से १६ घंटे खर्च करने पड़ते हैं।

ऐसे में पांडा के दिन का ज्यादातर समय कहते हुए बीतता हैं बाकि समय आराम फरमाते हुए बीतता हैं।

इसलिए PANDA को सबसे आलसी जानवरो में से एक माना जाता हैं।

बाम्बू स्टिक्स के अलावा PANDA को मीठा खाना भी पसंद होता हैं।

हलाकि जंगल में इन्हे ये खुराक नहीं मिलता लेकिन चिड़ियाघर में रहने वाले पांडा को अक्सर मीठा खाना खिलाया जाता हैं।

CUTE PANDA का सोशल स्ट्रक्चर

PANDA भले ही किसी दूसरे सदस्य की मौजूदगी बरदहस्त नहीं करते।

लेकिन ये कभी कभी अपने साथी से जरूर मिलते हैं।

PANDA की सूंघने की ताकत शानदार होती हैं।

हाल ही की रिसर्च बताती हैं की PANDA की एक इलाके में ७ से १५ सदस्य रहते हैं।

एक PANDA का इलाका ५ किलोमीटर वर्ग में फैला होता है।

वह किसी दूसरे सदस्य को ढेरा ज़माने की अनुमति नहीं होती।

CUTE PANDA का रिप्रोडक्शन बेहेवियर

पांडा की मेटिंग प्रोसेस काफी अनोखी हैं।

ये जीव ४ से ८ साल की उम्र में ही मेटिंग के लिए तैयार हो जाते हैं।

लेकिन खास बात हैं की फीमेल पांडा अपने ब्रीडिंग सीजन में केवल ७२ घंटे के लिए ही अवेलेबल रहती हैं।

इतने समय में हलाकि ये मेल पार्टनर से सम्बन्ध बनाती हैं लेकिन फिर भी ये टाइम पीरियड काफी कम हैं।

ऐसे में मेल पार्टनर हाइली कॉम्पिटिटिव हो जाते हैं।

रिलेशन के ९० से १८० दिनों के बाद मादा बच्चो को जनम देती हैं।

जंगल में रहने वाली फीमेल पांडा अक्सर एक बेबी को पैदा करती है बल्कि फीमेल पांडा २ बेबीज को जनम देती हैं।

इसके बच्चे जन्म से ही अंधे पैदा होते हैं और ८ हफ्ते बाद ही आँखे खोलते हैं।

तब तक ना तो इनमे देखने की शक्ति होती हैं और न ही इनके शरीर पर एक भी बाल होता हैं।

पैदाइशी ये गुलाबी रंग के दिखाई देते हैं।

इनके शरीर पर बाल न होने से बेबी को माँ की गर्मी की जरुरत होती हैं।

१३ सेंटीमीटर लम्बे ये बेबीज अपने माँ के पास जाने के लिए तड़पते हैं।

अगर बेबी एक होता हैं तो माँ ख़ुशी ख़ुशी उसका ख्याल रखती हैं।

लेकिन २ बच्चे पैदा होने पर PANDA एक बच्चे को अपनाती हैं और कमज़ोर बच्चे को त्याग कर देती हैं।

दरअसल इस ज़ालिम माँ को लगता है की वो २ बच्चो को पलने की ज़िम्मेदारी नहीं उठा सकती।

डिलीवरी के समय कमज़ोर हो जाने की वजह से भी ये ऐसा सोचती हैं।

इसलिए ये दोनों को पलने की बजाये ये केवल एक को ही अपनाती है जब की दूसरे को मरने के लिए छोड़ देती हैं।

कहा जाता हैं की फीमेल पांडा की एक भोली शकल के पीछे एक निर्दय माँ छुपी होती हैं।

जो बच्चो के नाम पर पक्षपात करती हैं खैर बच्चो को पलने से ज्यादा मुश्किलें PANDA को इन्हे पैदा करते वक़्त जेलनि पड़ती हैं।

लोगो को इनकी ज़िन्दगी ऐसो आराम की लगती हैं लेकिन असल में ये बहोत चुनोतियो से भरी होती हैं।

दरअसल पांडा में मेटिंग एबिलिटी कम होती हैं ये बड़ी मुश्किल से रिप्रोडक्शन सिस्टम को पूरा कर पाते हैं।

इन्हे ढंग से मेट करना नहीं आता।

जंगल में तो ये प्रोसेस नैचुरली होता हैं लेकिन चिड़ियाघर में रहने वाले पांडा को सबसे ज्यादा ऐसी दिक्कते जेलनि पड़ती हैं।

वो अक्सर इस प्रक्रिया में काफी कमज़ोर पद जाते हैं।

कई बार उन्हें मदद की जरुरत भी पड़ती हैं।

कहा जा सकता हैं की दो साल में एक बार बेबी को जनम देने की वजह से भी इनकी संख्या में कमी हुई हैं।

इसके अलावा जंगलो में इनका लाइफ स्पान भी १५ से २० साल का रहा हैं।

जब की चिड़ियाघर में ३० साल तक जीते हैं और पैंपर्ड वातावरण में बड़े होते हैं।

आज इनके अस्तित्व को बचाने के लिए बहोत कुछ किया जा रहा हैं।

चीन सर्कार से लेकर वर्ल्डवाइड फण्ड भी इन्हे बचाने की कोशिश में लगे हुए हैं।

१९९० का एक दौर था जब डेफोर्मेशन की वजह से इनका अस्तित्व ख़तम होने की कगार पर था।

लेकिन वर्ल्डवाइड फण्ड ने इस प्रजाति को बचाने के लिए शिकार को रोकने की भी व्यवस्था की गई थी।

इसकी वजह से ही पांडा की संख्या में ७० प्रतिशत का इज़ाफ़ा देखा गया था।

FINAL WORDS

तो ये जानकारी थी CUTE PANDA की,हमने आपको ये जानकारी दी की पांडा कैसे रहते हैं और क्या कहते हैं और उसका जीवन कैसा होता हैं , और हमने CUTE PANDA की कई साडी IMAGES भी रखी हुई हैं तो आप देख सकते है की वो कितना क्यूट लगता है।

पांडा कौन से देश में पाया जाता है?

पांडा का मूलस्थल चीन हैं लेकिन ये कई और देशो में भी पाया जा चूका हैं। वैसे बात करे तो अब तक पांडा की संख्या बहुत ही कम हैं और सरकार इसको बचाने में लगी हुई हैं।

पांडा का मतलब क्या होता है?

पांडा एक भालू की प्रजाति हैं और ये सफ़ेद और काले कलर के होते हैं। ज्यादातर ये चीन में ही पाए जाते हैं।

पांडा जानवर क्या खाना पसंद करते हैं?

पांडा ज्यादातर बाम्बू स्टिक खाना पसंद करते हैं और उसको मीठा खाना भी पसंद होता हैं।

धन्यवाद्।

जय हिन्द।

0 Shares
1 comment
Leave a Reply

Your email address will not be published.

You May Also Like