ROSE
ROSE

ROSE की अलग अलग प्रजातियों के बारे में जानकारी

ROSE
0 Shares
0
0
0

नमस्कार दोस्तों, हम II TECHNOLOGY आपके लिए एक नयी जानकारी लेकर आये हैं जो ROSE के बारे में हैं।

इस धरती पर न जाने कितने प्रकार के पेड़ पौधे पाए जाते हैं।

इनमे से कुछ फूलो के लिए, कुछ बीज के लिए, कुछ पत्तो के लिए फेमस होते हैं।

जब बात फूलो की हो ही रही हैं तो फिर चलिए आपको एक ऐसे फूल के बारे में कुछ रोचक तथ्य बताते हैं।

जो फूल पूरी दुनिया में फेमस हैं , जो फूल प्रेम का प्रतिक हैं।

ROSE

ROSE
ROSE

जी हां आज हम बात करने वाले हैं गुलाब के बारे में।

जिसे इंग्लिश में ROSE के नाम से जाना जाता हैं।

खास बात ये हैं की गुलाब का फूल नार्मल फूल से कई ज्यादा अलग और पॉपुलर होते हैं।

दुनिया के चाहे किसी भी हिस्से में जाओ और किसी भी नाम से पुकारो इसकी पॉपुलैरिटी कम नहीं होती।

चाहे इसकी खुशबू की बात करे या इसकी सुंदरता की हर मामले में ये लोगो का दिल जीत ही लेता हैं क्यूंकि ये सिर्फ एक फूल नहीं होता बल्कि इसके साथ कई सारी भावना भी जुडी होती हैं।

प्रेम का मामला हो या डेकोरेशन का किसी के स्वागत में इस्तेमाल हो या भगवन के सजदे में।

हर जगह इसकी अपनी अलग ही इम्पोर्टेंस हैं।

यही वजह है की दुनिया भर में इस फूल की डिमांड काफी ज्यादा हैं।

मैरिज सेरेमनी से लेकर नार्मल फंक्शन में भी जमकर इसका इस्तेमाल होता हैं।

आखिर इस रंगबिरंगे और खुशबूदार फूल से कौन मोहित नहीं होगा भला।

लेकिन इसे लेकर आपके मन में कुछ सवाल भी होंगे की आखिर इतने गुलाब के फूल आते कहा से हैं, क्या इनकी खेती होती हैं ?

तो आज हम आपको गुलाब से जुडी सभी जानकारी देने वाले हैं।

ROSE की अलग अलग प्रजातियां

ज्यादातर लोगो को रेड और पिंक कलर के गुलाब के बारे में ही पता होता हैं।

लेकिन ऐसा नहीं हैं दुनियाभर में गुलाब की कई सारी प्रजातियां पायी जाती हैं।

जिसके आधार पर उनका रंग और खुशबू भी अलग अलग होती हैं।

ऐसा माना जाता हैं की गुलाब की प्रजातियां लगभग १५० के आसपास हैं।

जो की अलग अलग रंग और खुशबू के आधार पर वर्गीकृत किये जाते हैं।

साथ ही खास मिटटी और एनवायरनमेंट में ग्रो करने की वजह से भी इनको अलग अलग प्रजातियों में बांटा जाता हैं।

इतना ही नहीं आजकल तो फूलो को हाइब्रिड बनाने का भी दौर चल रहा हैं।

तभी तो गुलाब की इन प्रजातियों में से हज़ारो हाइब्रिड ROSE तैयार होने लगे हैं।

ऐसे में ये पता लगाना मुश्किल हो जाता हैं की आप किस गुलाब को अपने घर में लगा सकते हैं।

इसके अलावा इसकी खेती करने के लिए भी इसके टाइप्स का पूरा ख्याल रखना जरुरी होता हैं।

ताकि इसकी खेती के लिए जरुरी इंतेज़ाम किया जा सके।

ROSE की ३ मुख्य प्रजातियां

दूसरे फल फूल की तरह गुलाब की खेती के लिए भी कुछ इम्पोर्टेन्ट फैक्ट्स जानना काफी जरुरी होता हैं।

चाहे आप इसे अपने घर के बगीचे में प्लांट कर रहे हो या इसकी खेती कर रहे हो।

खास तौर से गुलाब के जानकर ये पूरा ध्यान रखते हैं की ठीक तरीके से इनकी खेती करने के लिए या घरो में प्लांट करने के लिए थोड़ा ध्यान रखना होता हैं।

ज्यादातर गुलाब जानकर गुलाब को ३ प्रजाति में बताते हैं।

१) MODERN ROSE
MODERN ROSE
MODERN ROSE

जो लोग गुलाब के शौक़ीन होते हैं वो बाजार पर आधारित नहीं होते बल्कि वो अपने घर में ही रोज गार्डन बना लेते हैं।

दुनिया में कई ऐसे लोग हैं जिन्हे रोज का काफी शौख हैं।

ऐसे लोग अपने घरो के बगीचों में या छत पर ही गुलाब ऊगा देते हैं।

आज के दौर में ज्यादातर गार्डन में मॉडर्न गुलाब ही देखने को मिलते हैं।

बताया जाता हैं की थोड़े साल पहले गुलाब की प्रजातियां बढ़ने लगी।

ये गुलाब ज्यादा दिएर तक ताज़ा नहीं रह सकते।

बावजूद इसके ज्यादातर लोगो के गार्डन में मॉडर्न गुलाब देखे जा सकते हैं।

और इन्हे मोस्ट कॉमन रोज़ माना जाता हैं।

दुनिया की सबसे महंगी लकडिया के बारे में जानने के लिए यहाँ पर क्लिक करे।

२) OLD GARDEN
OLD GARDEN ROSE
OLD GARDEN ROSE

ये गुलाब काफी सालो पहले से चले आ रहे हैं।

यही वजह हैं की इन्हे हेरिटेज या हिस्टोरिक गुलाब के नाम से भी जाना जाता हैं।

खास बात ये हैं की इनमे काफी स्ट्रांग स्मेल होती हैं जिसकी वजह से लोग इन्हे खूब पसंद करते हैं।

इसके अलावा ये ख़राब मौसम और कीड़े से अपने आपको बचाने में सक्षम होते हैं।

इस तरह के गुलाब की खासियत ये हैं की ये एक सीजन में एक बार ही खिलते हैं।

३) WILD ROSE
WILD ROSES
WILD ROSES

गुलाब की दुनिया में इसे जंगली फूल के नाम से जाना जाता हैं।

इस तरह के फूल की खासियत ये हैं की इन फूलो से किसी भी प्रकार का हाइब्रिड फूल नहीं बनाया जा सकता।

ये ज्यादातर पिंक कलर के ही होते हैं।

वाइट या रेड कलर का वाइल्ड रोज देख पाना मुश्किल ही हैं।

हलाकि पिले कलर के भी ये देखे जा सकते हैं लेकिन उसकी सम्भावना बहुत ही कम हैं।

समय के साथ साथ लोगो में गार्डनिंग का ट्रेंड भी बढ़ रहा हैं।

अपनी भाग दौड़ भरी ज़िंदगी से थोड़ा समय निकलकर लोग इस काम में भी रूचि लेने लगे हैं।

बिज़नेस न सही पर बहुत से लोग शौख के तौर पर गार्डनिंग करना पसंद करते हैं।

तो अगर आप भी उनमे से एक हैं और गार्डनिंग के लिए प्लानिंग कर रहे हैं तो गुलाबो के बारे में थोड़ी जानकारी आपको काफी हेल्प करेगी।

क्यूंकि बाग़ में अगर गुलाब ना हो तो फिर बाग़ बाग़ नहीं रहता।

दूसरे गुलाबो के बारे में थोड़ी जानकारी

१) CLIMBING

ये गुलाब MODERN ROSE की केटेगरी में आता हैं।

हलाकि इनके पौधे काफी लम्बे होते हैं और फूल भी काफी बड़े होते हैं।

लेकिन इनमे डालियाँ नहीं पायी जाती हैं।

बल्कि ये किसी दीवार, खम्भे या बाम्बू के सहारे ऊपर बढ़ते रहते हैं।

इनकी खासियत ये हैं की इनमे काफी ज्यादा संख्या में फूल लगते हैं।

इसके अलावा ये कई बार छोटे छोटे ग्रुप्स में ग्रो करते हैं।

जो देखने पर गुलदस्ते की तरह लगते है।

२) ENGLISH ROSE
ENGLISH ROSE
ENGLISH ROSE

अगर आप किसी ऐसे गुलाब की तलाश कर रहे हैं जो की बेहद स्ट्रांग स्मेल देता हो और दिखने में भी खूबसूरत हो तो फिर आपकी तलाश यहाँ ख़त्म हो सकती हैं।

क्यूंकि इंग्लिश गुलाब में ये सारी खुबिया हैं जो की अलग अलग कलर में भी अवेलेबल होता हैं।

इसे काफी करेफुल्ली प्लांट करना होता हैं और इसकी देखभाल करनी होती है।

इसके पौधे झाड़ीदार होते हैं।

इन्हे आप गार्डन या कंटेनर में भी लगा सकते हैं।

३) FLORIBUNDA

मॉडर्न रोज केटेगरी के ये फूल एक हाइब्रिड प्रजाति का गुलाब हैं।

हलाकि इनमे ज्यादा खुशबू नहीं होती लेकिन इनके कुछ नए ब्रीड्स बनाये गए हैं जो की बहुत खुशबूदार होते हैं।

४) GRANDIFLORA ROSE

दूसरे गुलाबो की तरह ही ये गुलाब को सर्वाइव करने के लिए सूर्यप्रकाश की जरुरत होती हैं।

इसे काफी केयर की जरुरत होती हैं।

ये पर्पल, पिंक और येलो कलर के पाए जाते हैं।

५) GROUNDCOVER

ये साइज में ३ फीट तक बड़े होते हैं लेकिन काफी फैले हुए होते हैं।

जिससे ये किसी कलरफुल कारपेट की तरह लगते हैं।

सभी गुलाबो की तरह ये गुलाब भी सूर्यप्रकाश में काफी बढ़ते हैं।

ज्यादातर इन्हे बगीचे में लगाना ही पसंद किया जाता हैं।

६) CHINA ROSES

ओल्ड गार्डन केटेगरी का ये गुलाब हैं जो सालो से ईस्ट एशिया में पाए जाते हैं।

चीन रोजेज दूसरे गुलाब के मुकाबले कम खुशबूदार और साइज में भी छोटे होते हैं।

इन फूलो की खासियत ये हैं की बढ़ते समय के साथ इनका कलर भी डार्क होता जाता हैं।

जबकि दूसरे फूलो का कलर लाइट होता हैं।

७) DAMASK
ROSE
DAMASK ROSE

चीन रोजेज की तरह ही ये गुलाब भी ओल्ड गार्डन रोज की केटेगरी में ही आते हैं।

मगर ये काफी खुशबूदार होते हैं।

इसके अलावा इसे हिस्टोरिक रोज भी कहा जाता हैं।

८) TEA ROSES

ऐसा माना जाता हैं की ओल्ड गार्डन रोजेज के ग्रुप में आने वाले इन गुलाब का ओरिजिन चीन में हुआ था।

ये गुलाब कोल्ड क्लाइमेट में सर्वाइव नहीं कर सकते।

बड़े होने पर इनकी पंखुडिया पीछे की तरफ मूड जाती हैं।

खास बात ये हैं की इनकी पंखुडिया हर्बल चाय की इस्तेमाल में पायी जाती हैं।

ज्यादातर ये पिले कलर के होते हैं लेकिन पिंक और वाइट कलर के पाए जाते हैं।

९) WILD PRAIRIE

ये वाइल्ड रोजेज की केटेगरी में आते हैं।

इन्हे ग्रो करने के लिए सूर्यप्रकाश की ही जरुरत होती हैं।

हलाकि ये सूखा जेल सकते हैं लेकिन पानी प्रोवाइड करने पर ये काफी अच्छे से ग्रो करते हैं।

FINAL WORDS

तो ये थी जानकारी ROSE की अलग अलग प्रजातियों के बारे में।

तो अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया कमेंट करके जरूर बताये।

धन्यवाद्।

जय हिन्द।

0 Shares
Leave a Reply

Your email address will not be published.

You May Also Like